बताया जा रहा है कि बाराबंकी जेल अधीक्षक उमेश कुमार सिंह ने राज्य कारागार मंत्री उत्तर प्रदेश जयकुमार सिंह जैकी को 50 हजार रूपये की घूस की पेशकश की थी। इस मामले में मंत्री के आदेश के बाद लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी गई है। पुलिस पूरे मामले में छानबीन कर रही है। खबरों के मुताबिक जेल अधीक्षक खुद ही मंत्री के आवास जाकर रिश्वत की पेशकश की थी जिसके बाद उन्हें घर से भगा दिया गया था। मामला मंत्री के डालाबाग स्थित घर का बताया जा रहा है।

इंस्पेक्टर हजरतगंज आनंद कुमार शाही के मुताबिक आरोपी जेल अधीक्षक के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम समेत कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मंत्री के शैडो सौरभ ने बताया कि जेल अधीक्षक ने उनसे मंत्री से अवाश्यक कार्य बताकर मिलने को कहा। इसी दौरान जेल अधीक्षक ने जेब से 50 हजार रूपये का लिफाफा निकालकर मेज पर रख दिया। मंत्री ने पूछा लिफाफे में क्या है, यह सुनते ही जेल अधीक्षक वहां से रफूचक्कर हो गए। बाद में लिफाफा खोलने पर उसमें रूपये होने की जानकारी हुई।