बेंगलुरू : AIADMK प्रमुख शशिकला को जेल में मिल रहे VIP ट्रीटमेंट का पर्दाफास करने वाली पुलिस अधिकारी डी. रूपा का कर्नाटक सरकार ने तबादला कर दिया है। सरकार ने रूपा के साथ चार अन्य वरिष्ठ अधिकारियों का भी तबादला किया है। उपमहानिरीक्षक डी रूपा ने अपनी रिपोर्ट में शशिकला को जेल में मिल रहीं तमाम सुविधाएं व दो करोड़ रुपये घूस देने का खुलासा किया है। उनके खुलासे के बाद डीआई सत्यनारायण राव सवालों के घेरे में आ गये हैं।  हालांकि रूपा के खुलासे के बाद मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने जांच के आदेश दिये थे लेकिन बाद में उन्होंने कहा था कि सीधे मीडिया से बात करना सही कदम नहीं था इसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

रूपा ने इस बात से इनकार किया है कि उन्होंने 10 जुलाई को जेल का निरीक्षण करने के बाद जो रिपोर्ट बनायी उसे मीडिया में लीक किया।  शशिकला के बारे में हुए खुलासे के बाद राव का स्थानांतरण कर दिया गया था, जबकि उन्होंने इस बात से इनकार किया कि शशिकला को किसी तरह की विशेष सुविधा दी जा रही है, उन्होंने सभी आरोपों को निराधार बताया था। रूपा ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया था कि स्टांप पेपर फ्राड मामले में जेल में बंद अब्दुल करीम तेलगी को भी जेल में स्पेशल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। बता दें कि शशिकला को जेल में मिल रहीं सुविधाओं के खिलाफ बोलने वाली डी रूपा भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी हैं। वे कर्नाटक के दावनगेरे की रहने वाली हैं।